Sun. Jun 20th, 2021

शहद को एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक माना जाता है जो फटे पैरों को ठीक करने में सहायक होता है। साथ ही यह त्वचा को नम करता है और उसे सूखने से रोकता है। इसके अलावा, शहद के सुखदायक गुण त्वचा को रिजुविनेट करने में भी मदद करते हैं।

एडि़यों का फटना एक आम समस्या है। लेकिन समर्स में जब हम फ्लिप−फ्लॉप से लेकर ओपन फुटवियर पहनते हैं तो ऐसे में फटी एडि़यां आपको काफी शर्मिन्दा कर सकती हैं। आमतौर पर लोग अपनी स्किन खासतौर से चेहरे पर तो खास ध्यान देते हैं, लेकिन पैरों की तरफ उनका ध्यान ही नहीं जाता। इतना ही नहीं, अगर फटी एडि़यों को नजरअंदाज किया जाए तो इससे समस्या बढ़ जाती हैं और फिर क्रैक्ड हील्स में काफी दर्द भी होता है। तो चलिए आज हम आपको ऐसे कुछ उपाय बता रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप इन फटी एडि़यों की समस्या को दूर कर सकते हैं−

केले का करें इस्तेमाल

केले में कई पोषक तत्वों की प्रचुरता होती है जिसमें विटामिन ए, बी 6 और सी शामिल हैं। यह पोषक तत्व त्वचा की लोच को बनाए रखने में मदद करते हैं और त्वचा को अच्छी तरह से हाइड्रेटेड रखते हैं। केला एक प्राकृतिक मॉइस्चराइज़र है जो पैरों को नम रखता है और त्वचा को सूखने से रोकता है। इसके इस्तेमाल के लिए आप दो पके हुए केले लें और उन्हें अच्छी तरह मैश करके एक स्मूद पेस्ट बना लें। कभी भी कच्चा केला इस्तेमाल ना करें। अब आप पैर के नाखूनों और पैर की उंगलियों सहित, पैरों के सभी हिस्सों पर इस पेस्ट को लगाएं और इसे 20 मिनट तक रहने दें। फिर अपने पैरों को पानी से धो लें। बेहतर परिणाम प्राप्त करने के लिए बिस्तर पर जाने से पहले कम से कम 2 सप्ताह तक इसे दोहराएं।

चावल का आटा, शहद और सिरका

चावल का आटा एक अद्भुत प्राकृतिक एक्सफोलिएटर के रूप में काम करता है, जो मृत कोशिकाओं को साफ करने में मदद करता है और त्वचा को पोषण देता है। वहीं शहद के साथ एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक है तो फटे पैरों की समस्याओं को दूर करने में सहायक है। इसके अलावा, सिरका हल्का एसिड होता है जो शुष्क और मृत त्वचा को नम करता है, जिससे इसे एक्सफोलिएट करना बहुत आसान हो जाता है। इसके इस्तेमाल के लिए 2 बड़े चम्मच चावल का आटा, 1 चम्मच शहद और 5−6 बूंदें सिरके की मिलाकर एक स्क्रब बनाएं। अब अपने पैरों को गुनगुने पानी में 10 मिनट के लिए डिप करें। इसके बाद धीरे से स्क्रब करके मृत त्वचा को साफ़ करें। इस प्रक्रिया को हफ्ते में 2−3 बार दोहराए

शहद को एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक माना जाता है जो फटे पैरों को ठीक करने में सहायक होता है। साथ ही यह त्वचा को नम करता है और उसे सूखने से रोकता

शहद

शहद को एक प्राकृतिक एंटीसेप्टिक माना जाता है जो फटे पैरों को ठीक करने में सहायक होता है। साथ ही यह त्वचा को नम करता है और उसे सूखने से रोकता है। इसके अलावा, शहद के सुखदायक गुण त्वचा को रिजुविनेट करने में भी मदद करते हैं। इसके इस्तेमाल के लिए एक कप गर्म पानी में 1 कप शहद मिलाएं। अब इस मिश्रण में पैरों को साफ करें और 20 मिनट के लिए सूदिंग मालिश करें। इसके बाद अपने पैरों को सुखाएं और मॉइस्चराइजर लगाएं। कुछ हफ्तों के लिए बिस्तर पर जाने से पहले नियमित रूप से ऐसा करें। आपको जल्द ही असर नजर आने लगेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *