Sun. Jun 20th, 2021

गर्मी के दिनों में पेट खराब होने से लेकर दर्द, गैस की समस्या व अपच जैसी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर आप इन सभी समस्याओं को दूर करना चाहते हैं तो ऐसे में आपको सौंफ के शरबत को जरूर पीना चाहिए।

गर्मी का मौसम आते ही शरीर की तरल पदार्थों की जरूरत बढ़ जाती है। इतना ही नहीं, बॉडी हीट भी बढ़ जाती है। ऐसे में विभिन्न तरल पदार्थों के माध्यम से ना सिर्फ शरीर को निर्जलीकरण से बचाया जा सकता है, बल्कि यह शरीर के तापमान को भी बनाए रखने में मददगार है। वैसे तो आप गर्मी के दिनों में नींबू पानी से लेकर कई विभिन्न पेय पदार्थों का सेवन करते होंगे और इन्हीं पेय पदार्थों में से एक है सौंफ का शरबत। सौंफ के शरबत से आपके शरीर को कई विभिन्न लाभ होते हैं, जिसके बारे में हम आज इस लेख में बात करेंगे−

दूर करें थकान

हेल्थ एक्सपर्ट बताते हैं कि गर्मी के दिनों में बढ़ती हीट के कारण शरीर में हमेशा थकान व गिरावट रहती है। लेकिन अगर आप सौंफ के शरबत का सेवन करते हैं तो इससे ना सिर्फ थकान दूर होती है, बल्कि ठंडक भी मिलती है। दरअसल, सौंफ एंटी−ऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है।

लू से बचाए

सौंफ के शरबत के सेवन का एक सबसे बड़ा लाभ यह है कि यह गर्मी के मौसम में लू से बचाने में मददगार है। चूंकि इसकी तासीर ठंडी होती है, इसलिए अगर आप गर्मी के दिनों में अपनी डाइट में इसे शामिल करते हैं तो इससे आपको लू या नकसीर फूटने जैसी समस्याओं का सामना करने की संभावना काफी कम हो जाएगी। 

पेट की समस्याओं को करें अलविदा

गर्मी के दिनों में पेट खराब होने से लेकर दर्द, गैस की समस्या व अपच जैसी कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। लेकिन अगर आप इन सभी समस्याओं को दूर करना चाहते हैं तो ऐसे में आपको सौंफ के शरबत को जरूर पीना चाहिए।

दिल के लिए लाभदायक 

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसासर, सौंफ़ और इसके बीज में फाइबर, पोटेशियम, मैग्नीशियम और कैल्शियम होते हैं। ये सभी अच्छे हृदय स्वास्थ्य के लिए आवश्यक हैं।

यूं बनाएं सौंफ का शरबत

सौंफ का शरबत बनाना बेहद आसान है। इसे आप कई तरीकों से बना सकते हैं। जैसे− आप पानी में सौंफ डालकर उसे उबालें और फिर इसे ठंडा करके सेवन करें। वहीं, अगर आप चाहें तो रातभर के लिए सौंफ को पानी में भिगोकर रखें और अगली सुबह छानकर इसे पीएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *