जामिया विवाद: वीसी नजमा अख्तर ने की उच्चस्तरीय कारवाही की मांग, कहा- ‘छात्र के मौत की खबर अफवाह’

जामिया विवाद: वीसी नजमा अख्तर ने की उच्चस्तरीय कारवाही की मांग, कहा- ‘छात्र के मौत की खबर अफवाह’

- in Top News
195
0

दिल्ली के प्रतिष्ठित विश्विद्यालय जामिया मिलिया इस्लामिया में पुलिस कार्रवाई और प्रदर्शन पर वीसी डॉक्टर नजमा अख्तर ने अफसोस जताया। उन्होंने कहा कि हमारे छात्रों पर जो कार्रवाई हुई है इससे हम आहत हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जामिया में हुई हिंसा का नुकसान कैसे होगा। उन्होंने छात्रों से अपील की है कि किसी तरह की अफवाह पर ध्यान न दें। आगजनी की घटना में छात्रों के शामिल होने से भी वीसी ने इनकार किया।यूनिवर्सिटी में पुलिस कार्रवाई के खिलाफ शिकायत करने की बात वीसी प्रफेसर अख्तर ने कही। उन्होंने कहा, ‘हमारी यूनिवर्सिटी का बहुत नुकसान हुआ है इसकी भरपाई कैसे होगी? इसके साथ ही जो हमारे बच्चों का भावनात्मक नुकसान हुआ है उनके साथ हिंसा हुई है, हम उसके लिए बहुत चिंतित हैं। हम यूनिवर्सिटी के अंदर पुलिस की एंट्री के खिलाफ आज एफआईआर दर्ज कराएंगे।’यूनिवर्सिटी की वीसी ने कहा, ‘ऐसी घटनाएं होती हैं तो अफवाह भी उड़ते हैं। अब एक अफवाह है कि एक बच्चे की मौत हो गई है। इस तरह की खबरों पर यकीन न करें। हमारे बच्चों को पुलिस अपने साथ कल लेकर गई थी, हमारा पूरा स्टाफ कल रात भर उन्हें सुरक्षित वापस लौटाने में लगा था। हमारे पास बयान जारी करने के लिए वक्त नहीं था। सभी घायल छात्रों का इलाज चल रहा है, उनकी अपने पैरंट्स से बात कराई गई है। ज्यादातर छात्र हैं, लेकिन कुछ बाहर के भी बच्चे हैं उन्हें भी छुड़ाया गया। भले ही हमारे यूनिवर्सिटी के बच्चे नहीं हैं, लेकिन किसी के तो बच्चे हैं।’ वीसी ने कहा कि जामिया की गिनती देश के सबसे प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों में होती है। उन्होंने कहा, ‘देश भर के कई हिस्सों से बच्चे यहां पढ़ने के लिए आते हैं। जबरन जामिया का नाम खराब करने की कोशिश हो रही है। हमारे विश्वविद्यालय की छवि को चोट पहुंचाने के लिए निशाना बनाया जा रहा है। हम इस मामले की उच्चस्तरीय जांच करने की मांग करते हैं।

You may also like

चीन को मोदी की दो टूक- बाहरी दबाव में नहीं झुकेगा भारत, देश के लिए जो जरूरी, वो करेंगे

लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ झड़प के