शीत लहर की असर उत्तर भारत पर

शीत लहर की असर उत्तर भारत पर

- in Top News
210
0

दो-तीन दिन की बारिश और बर्फबारी से उत्तर भारत में ठंड बढ़ गयी है। बताया जा रहा है कि मौसम का यह मिजाज अभी जारी रहेगा। हालांकि सोमवार से कुछ इलाकों में धूप खिलने की संभावना जताई जा रही है। इस बीच, शनिवार को भी हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड में कहीं बारिश हुई तो कहीं बर्फबारी। मौसम की जानकारी देने वाली वेबसाइट स्काईमेट के मुताबिक पहाड़ों पर अभी हफ्तेभर तक मौसम का मिजाज बदला रहेगा। हिमाचल प्रदेश के शिमला, मनाली, डलहौजी और कुफरी समेत कई मुख्य पर्यटन स्थलों पर शुक्रवार रातभर बर्फबारी हुई। शिमला मौसम विज्ञान विभाग केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने बताया कि राज्य में शुक्रवार शाम साढ़े पांच बजे से शनिवार सुबह साढ़े आठ बजे तक सबसे अधिक बर्फबारी डलहौजी 60 सेमी में हुई। इसके बाद कुफरी में 20 सेमी, मनाली में 10 सेमी और शिमला में आठ सेमी बर्फबारी हुई। उन्होंने बताया कि लाहौल-स्पीति के प्रशासनिक केंद्र केलांग और किन्नौर के कल्पा में भी इस दौरान 13 सेमी बर्फबारी हुई। बर्फबारी और भारी वर्षा के बाद हिमस्खलन एवं भूस्खलन की आशंका से लोगों एवं पर्यटकों को सावधान रहने को कहा गया है। इस बीच, कश्मीर में भारी बर्फबारी के बीच श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने के कारण शनिवार को लगातार तीसरे दिन भी कश्मीर घाटी का देश के बाकी हिस्सों से संपर्क टूटा रहा। हालांकि घने कोहरे और बर्फबारी के चलते श्रीनगर हवाईअड्डे पर खराब दृश्यता को लेकर लगातार सात दिन से निलंबित उड़ान सेवाएं शनिवार को बहाल हो गईं। एक अधिकारी ने कहा, ‘मौसम और दृश्यता में सुधार हुआ है। दोपहर की सभी उड़ानें अब सामान्य रूप से परिचालित होने वाली हैं।’ उत्तराखंड के भी कई इलाकों में पिछले कुछ दिनों से बर्फबारी और बारिश हो रही है। कई इलाकों में इस बारिश और बर्फबारी के बाद पूरे उत्तर भारत में भयानक ठंड बढ़ गयी है। कई इलाकों में लोगों के अलाव की व्यवस्था की गयी है।

You may also like

चीन को मोदी की दो टूक- बाहरी दबाव में नहीं झुकेगा भारत, देश के लिए जो जरूरी, वो करेंगे

लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ झड़प के